search
Live Love Laugh Logo

एक जोड़ी के रूप में अपने भावनात्मक ज्ञान निर्माण करने के पांच तरीके

भावनात्मक ज्ञान सभी अच्छे संबंधों का आधार है। यह सिर्फ एक और शब्द है जो कि आपकी भावनाओं या अनुभूतियों के द्वारा, दूसरों की भावनाओं या उनको ऐसी स्थिति में कैसा लग रहा है समझने में मदद करता है और उसको दिमाग में रखते हुए उसके अनुरूप प्रतिक्रिया करने में मदद करता है। इसके लिए एक और शब्द सिर्फ मानवीय या दयालु व्यवहार हो सकता है। सबसे महत्वपूर्ण यह है कि आप अपने और अपने से महत्वपूर्ण दूसरे की भावनाओं के बारे में पता कर रहे हैं। जैसा कपल थेरापिस्ट्स बताते हैं कि कोई जोड़ा कभी इसलिए नहीं टूटा क्योंकि उनमें काफी अच्छी समझ थी या वे दोनों उस रिश्ते को लेकर उत्साह जनक रहे थे।

यहाँ एक जोड़ी के रूप में एक साथ अपने भावनात्मक ज्ञान का निर्माण करने के 5 तरीके हैं जिससे आप को भावनात्मक रूप से परिपूर्ण और स्थायी भागीदारी प्राप्त हो सकती है।

1

अपनी जागरूकता बढ़ाओ

यह किसी भी अच्छे संबंध के लिए पहला कदम है। आप ऐसे किसी रिश्ते का निर्माण नहीं कर सकते जिसमें आप एक दूसरे की ओर ध्यान नहीं दे रहे हों। तो पहला कदम है ध्यान दें, अपने साथी के संकेतों को देखें और उसके मूड या भावनाओं के उतार-चढाव को जानने की कोशिश करें कि वह कैसे प्रतिक्रिया करता है जब वह उदास या उत्साहित हो। यदि कुछ खास ट्रिगर्स या बातें उन्हें दुखी या उदास करते हैं, तो उन्हें गौर से देखें और पता लगाएं वे क्या हैं। अपने साथी की जरूरतों और चाहतों को समझते हुए अधिक जागरूक बनकर अपना भावनात्मक ज्ञान बढ़ाएं।

2

अपने भावनात्मक पोषक तत्वों का पता लगाएं

यह भागीदारों के बीच भी एक मजेदार खेल हो सकता है जहाँ आप उन भावनाओं या अनुभूतियों के बारे में बात करते या लिखते हैं जो रिश्तों को पोषित करते हैं। यह साधारण चीजें हो सकती हैं, जैसे सफ़र के प्रति अनुराग या पेशेवर महत्वाकांक्षा या आपस में बच्चे होना। एक बार जब आप यह जान लेते हैं कि कैसा व्यवहार आप दोनों का पोषण करता है तो आप अपने रिश्ते के भीतर स्वस्थ प्रारूप स्थापित कर सकते हैं।

3

समझें कि जीवन के जहरीले पहलू क्या हैं जो आप में गंदगी और क्रोध भर रहे हैं

एक बार फिर, आप एक साथ मिलकर सूची बना सकते हैं या अपने साथी के साथ इस बारे में बात कर सकते हैं, लेकिन यह महत्वपूर्ण है कि रिश्ते को स्थायी और सुखी बनाए रखने के लिए आप नकारात्मक प्रारूप और व्यवहार दोनों से बचने की कोशिश करें। इसमें कुछ बहुत स्वाभाविक बिंदु शामिल हो सकते हैं जैसे एक साथ पर्याप्त समय नहीं बिताना या साथ में लिये गये फैसलों पर व्यक्तिगत महत्वाकांक्षाओं को प्राथमिकता देना या घर पर काम के दबाव के कारण पर्याप्त समय न देना शामिल हैं। यदि आपका साथी उपेक्षित महसूस करता है या आप बहुत ज्यादा पैसे खर्च करने को लेकर चिंतित है, लेकिन इसको कह पाने में सक्षम नहीं है। उन दबी हुई भावनाओं को बाहर निकलने के लिए यह एक शानदार तरीका है।

4

रिश्तों को प्रभावित करने वाली भावनाओं को संभालें

भावनात्मक ज्ञान निर्माण के बारे में यह सबसे महत्वपूर्ण कदमों में से एक है। अब हर रिश्ते में कुछ नुकसानदेह भावनात्मक जाल होते है चाहे यह ईर्ष्या हो या विश्वास की कमी हो, प्रतिबद्धता-भय हो या क्रोध हो। साथ ही रिश्तों के भीतर भावनाएं संक्रामक होती हैं तो आप अगर अपने साथी पर विश्वास नहीं करते हैं, तब संभावना है कि आप के खाते में वैसी ही चीज़ ऐसे वापस आये जिससे वह कम भरोसेमंद महसूस होने लगता है। यहाँ महत्वपूर्ण बात यह है कि रिश्तों में गड़बड़ी के कारण को समझें और उसे हल करने की दिशा में काम करें।

5

अंत में अपने भावनात्मक ट्रिगर्स को शुरुआती दौर में नियन्त्रित करना सीखें

यह आपके रिश्ते में भावनात्मक ज्ञान के निर्माण के सबसे कठिन कदमों में से एक है और आमतौर पर ज़्यादातर जोड़े इस दिशा में अंतिम लक्ष्य की तरह काम करते है, शायद जीवन भर करते रहते है। एक बार जब आप अपनी और अपने साथी की भावनाओं के बारे में जान जाते हैं, तब एक मजबूत भागीदारी के लिए महत्वपूर्ण कदम पैटर्न जानना होता हैI आप साथ लाने वाले पैटर्न के साथ जुड़ते हैं और उन पैटर्न से बचना चाहते है जो अलगाव लेट हों। साथ में पर्याप्त समय बिताएं या जब वे खर्च के बारे में बात करते हैं तो अपने गुस्से पर नियंत्रण करें। इस तरह का भावनात्मक ज्ञान तब सामने आता है जब एक बार आप अपने रिश्ते को और अपने साथी को सब से ऊपर रखना शुरू करते हैं। और याद रखें, कभी-कभार एक बार विफल होना और गलती कर बैठना ठीक है। महत्वपूर्ण बात यह है कि आप शुरुआत वहाँ से करें जहाँ आप ने छोड़ दिया था और आगे बढ़ने का प्रयास जारी रखें।

साथ मिलकर हम भावनात्मक समस्याओं से परेशान बहुत से लोगों की मदद कर सकते हैं। हर एक छोटे से छोटा दान भी बदलाव ला सकता है।

दान करें और एक सकारात्मक बदलाव लाएं

हेल्पलाइन संबंधी अस्वीकरण

द लिव लव लाफ फाउन्डेशन (टीएलएलएलएफ) किसी व्यवसाय में शामिल नही है जिसमें सलाह प्रदान की जाती है, साथ ही वेबसाइट पर दिये गए नंबरों का परिचालन, नियंत्रण भी नही करता है। हेल्पलाइन नंबर केवल सन्दर्भ के प्रयोजन से है और टीएलएलएलएफ द्वारा न तो कोई सिफारिश की जाती है न ही कोई गारंटी दी जाती है जो कि इन हेल्पलाइन्स पर मिलने वाली चिकित्सकीय सलाह की गुणवत्ता से संबंधित हो। टीएलएलएलएफ इन हेल्पलाइन्स का प्रचार नही करते और न ही कोई प्रतिनिधि, वारंटी या गारंटी देते हैं और इस संबंध में कोई उत्तरदायित्व नही लेते हैं जो सेवाएं इनके माध्यम से प्रदान की जाती हैं। टीएलएलएलएफ द्वारा इन हेल्पलाइन नंबर पर किये जाने वाले कॉल के कारण होने वाले किसी भी नुकसान की जिम्मेदारी से स्वयं को अलग किया जाता है।