search
Live Love Laugh Logo

अवसाद की उच्चतम दर वाले 7 पेशे (लेख पढ़ें)

विभिन्न नौकरियों में तनाव के स्तर भी अलग होते हैं। कभी कभी जब दबाव चरम पर हो कर्मचारियों को अवसाद का खतरा हो जाता है। यहाँ अवसाद की उच्चतम दर वाले पेशों की सूची है।

1

नर्सिंग

नर्सों को अक्सर प्रमुख अवसाद प्रकरण होते हैं। इसका मुख्य कारण है कि काम की प्रकृति बीमार या बुजुर्ग लोगों की चौकसी के लिए जिम्मेदार बनाता है। कई बार ये लोग स्वस्थ नहीं हो सकते और कैसा महसूस कर रहे हैं यह बता नहीं सकते हैं। नर्सों को अपने काम की कोई सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं मिलती है, उनके कार्य निष्पादन की कोई समीक्षा नहीं होती और लगातार दर्द और बीमारी से घिरी रहतीं हैं। तो अगली बार जब आप नर्स से मिलें, उन्हें कुछ अच्छा लगने वाली बातें कहें, उन्हें लगे सराहना की जाती है।

2

बिक्री (सेल्स)

बिक्री कार्यकर्ताओं का काम बहुत चुनौतीपूर्ण है। वे लगातार लक्ष्यों का पीछा करते रहते हैं और आजीविका के लिए उनकी चीजों को खरीदने के लिए लोगों को राज़ी करना होता है। चूंकि बिक्री के ज्यादातर लोगों को कमीशन के आधार पर काम पर रखा जाता है, उन्हें अपनी आय का आंकलन करने में मुश्किल होती है। बिक्री के कुछ लोगों को लगातार यात्रा करनी पड़ती है, तो उनको बहुत समय अपने मित्रों और परिवार से दूर रहना पड़ता है। हालाँकि बिक्री के सफल लोग, जिन्होंने ग्राहकों को समझा लेने की कला अच्छी तरह से सीख ली है काफी अच्छा काम कर रहे हैं, लेकिन उनमें से बहुमत अब भी अनिश्चितता और अवसाद के साथ संघर्ष कर रहे हैं।

3

बीएफएसआई

बैंकर, स्टॉक ब्रोकर, वित्तीय सलाहकार और एकाउंटेंट अक्सर अत्यधिक तनाव या अवसाद की स्थिति में होते हैं। इसका कारण यह है कि वे दूसरे लोगों की वित्तीय देखभाल करते हैं। एक गलती इन पेशेवरों के लिए तबाह करने वाली हो सकती है। इसके अलावा, बीएफएसआई पेशेवर धन की विषमता के प्रत्यक्ष गवाह होते हैं। एक बैंकिंग पेशेवर जो शायद औसत वेतन कमाता है एक अति अमीर ग्राहक के वित्त को संभालता है। इसका दिमाग पर बहुत असर हो सकता हैं, उसमे हमेशा बहुत अधिक धन संभालने की पर खुद के लिए पर्याप्त नहीं होने की भावना रहती है।

4

क्रिएटिव

कलाकारों, लेखकों, अदाकारों और संगीतकारों में अवसाद का उच्च स्तर होना माना जाता है। जब एक अवसादग्रस्त और निराश व्यक्ति काम करता है, तब आमतौर पर काम की गुणवत्ता गिर जाती है, लेकिन यदि लोग रचनात्मक उद्योग में काम कर रहे हैं, यह इसके एकदम उलट होता है। मनोवैज्ञानिकों और वैज्ञानिकों के विभिन्न अध्ययनों से पता चलता है कि रचनात्मक लोगों के अवसाद के निर्गम के लिए देखते हैं और यह आमतौर पर कला की अति उत्कृष्ट कृतियों के रूप में बाहर आता है। हालांकि, यह अभी भी एक परिकल्पना है!

5

सामाजिक

भारत जैसे देश में, एक सामाजिक कार्यकर्ता होना गरीबी और अपराध की ऊंची दरों की वजह से बहुत अधिक अवसाद का कारण हो सकता है। गैर सरकारी संगठनों, पुनर्वास केंद्र, मलिन बस्तियों, अनाथालयों और शरणगृहों ऐसे स्थान है जहां पर सामाजिक कार्यकर्ता से काम करने की उम्मीद की जाती है। उनकी कहानियों को सुनने और उन स्थितियों में लोगों के जीवन का साक्षी होना काफी कष्टप्रद हो सकता हैं।

6

दैनिक मजदूरी श्रमिक

निर्माण श्रमिकों, हॉकरों, रखरखाव और जमीनी काम के कार्यकर्ताओं में अवसाद की उच्च दर रहती है। इसका कारण यह है कि उनके पास काम की कोई सुरक्षा नहीं होती, बचत बहुत कम होती है और केवल जरूरत पड़ने पर ही काम के लिए कहा जाता है। दबाव और तनाव का स्तर औसत से कम वेतन के साथ मिलकर इन लोगों के लिए आपदा बन जाता है। इस के अलावा, उनमें से ज्यादातर मलिन बस्तियों में रहते हैं और शराब के आदी होते हैं। इस के साथ अवसाद और मादक द्रव्यों के सेवन की लत उनके मन पर अधिक दबाव डालता है।

7

हवाई यातायात नियंत्रकों (एटीसी)

एटीसी की नौकरियां ग्रह पर सबसे तनावपूर्ण हैं। हर दिन उनको कई विमानों के न सिर्फ सुरक्षित रूप से उड़ान भरने और उतरने के दौरान मार्गदर्शन करना होता है बल्कि यह भी सुनिश्चित करना होता है कि वे एक दूसरे में बिना दुर्घटना के सुरक्षित रूप से उड़ रहे हैं। एटीसी पर हजारों यात्रियों के जीवन की जिम्मेदारी होती है, एक ही गलती तबाही मचाकर खत्म कर सकती है। सरासर तनाव में काम करने के परिणाम स्वरूप कभी कभी लम्बे अर्से तक चलनेवाला अवसाद हो जाता है।

सभी व्यवसायों में उनके साथ जुड़े तनाव की एक निश्चित मात्रा होती है। एक स्वस्थ जीवन शैली सुनिश्चित करना और योग, ध्यान और नियमित रूप से काम करना जैसे कुछ उपाय लंबे समय तक मदद करते हैं।

अन्य पेशे जो लगभग इस सूची में शामिल हैं:

1) सेना- जीवन के खतरे की नौकरी है और मौत को बहुत करीब से देखते रहते हैं

2) वेतन के लिए खतरनाक काम – टेस्ट पायलट, रेस कार चालक आदि

3) विद्युत और लाइन का काम – जीवन की अनिश्चितता

लेटेस्ट अप्डेट्स

‘वह साइको है!’ ‘उसको ओसीडी है! ‘आप मेंटल हो रहे हैं!’ मनोरोग से जुड़े शब्दों का ऐसे होता है दुरुपयोग

एक साथी में उच्चतर भावनात्मक बुद्धिमत्ता के 5 संकेत

मानसिक रूप से बीमार प्रियजन के साथ बातचीत

और रोचक लेख खोजेंrytarw

साथ मिलकर हम भावनात्मक समस्याओं से परेशान बहुत से लोगों की मदद कर सकते हैं। हर एक छोटे से छोटा दान भी बदलाव ला सकता है।

दान करें और एक सकारात्मक बदलाव लाएं

हेल्पलाइन संबंधी अस्वीकरण

द लिव लव लाफ फाउन्डेशन (टीएलएलएलएफ) किसी व्यवसाय में शामिल नही है जिसमें सलाह प्रदान की जाती है, साथ ही वेबसाइट पर दिये गए नंबरों का परिचालन, नियंत्रण भी नही करता है। हेल्पलाइन नंबर केवल सन्दर्भ के प्रयोजन से है और टीएलएलएलएफ द्वारा न तो कोई सिफारिश की जाती है न ही कोई गारंटी दी जाती है जो कि इन हेल्पलाइन्स पर मिलने वाली चिकित्सकीय सलाह की गुणवत्ता से संबंधित हो। टीएलएलएलएफ इन हेल्पलाइन्स का प्रचार नही करते और न ही कोई प्रतिनिधि, वारंटी या गारंटी देते हैं और इस संबंध में कोई उत्तरदायित्व नही लेते हैं जो सेवाएं इनके माध्यम से प्रदान की जाती हैं। टीएलएलएलएफ द्वारा इन हेल्पलाइन नंबर पर किये जाने वाले कॉल के कारण होने वाले किसी भी नुकसान की जिम्मेदारी से स्वयं को अलग किया जाता है।