search
Live Love Laugh Logo

क्या आप एक मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर बन सकते हैं भले ही आप मनोविज्ञान या मनोरोग में प्रशिक्षित न हों?

मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर एक क्लिनिक या स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली के तहत काम करता है, और वह मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों के साथ रोगियों के लिए परामर्श देने या चिकित्सक के रूप में काम करता है। मानसिक स्वास्थ्य क्लिनिक में हालांकि एक पेशेवर के काम का प्रोफ़ाइल हमेशा रोगी के सामने ही नहीं है। इसमें ज़रुरत के मुताबिक कुछ मामलों में प्रशासनिक और व्यापार की योजना बनाना और मान्यता या वित्त पोषण के लिए सरकारी संगठनों के साथ अंतराफलक तथा मीडिया तक पहुँच बनाना शामिल है।

ज्यादातर मामलों में मनोरोग या मनोविज्ञान में स्नातक या परास्नातक की डिग्री अनिवार्य है। यह सच है, खासकर अगर काम का प्रोफ़ाइल ऐसा है कि मरीजों के साथ बातचीत अनिवार्य है। एक मानसिक स्वास्थ्य क्लिनिक में चिकित्सक की भूमिका एक कठिन काम है। रोगी भिन्न हो सकते हैं, इनमें व्यग्रता और तनाव से लेकर पूर्ण विकसित अवसाद तक, बाइपोलर डिसऑर्डर, स्कित्ज़ोफ्रेनिया, मेनिक कम्पल्सिव डिसऑर्डर और अन्य गंभीर मानसिक स्वास्थ्य निदान हो सकते हैं। उपचार के तरीके या मनोचिकित्सा भी भिन्न हो सकते हैं – यह बात आधारित साइकोथेरेपी या संज्ञानात्मक व्यवहार थेरेपी, एक्सपोजर थेरेपी, इंटरपर्सनल थेरेपी के साथ कौशल आधारित चिकित्सा ध्यान केंद्रित है, संज्ञानात्मक व्यवहार थेरेपी, एक्सपोजर थेरेपी, पारस्परिक चिकित्सा, जानवरों या कला या व्यावसायिक चिकित्सा पर केंद्रित कौशल आधारित चिकित्सा हो सकती है। जिन्होंने पहले मनोविज्ञान या मनोरोग विज्ञान का अध्ययन किया है उनका इन तरीकों को जानने और रोगियों के साथ काम करने के ट्रैक रिकॉर्ड वालों का विशेषाधिकार है।

हालांकि, अगर आप अपने स्नातक डिग्री या उससे पहले किसी अन्य विषय का अध्ययन किया है, तब भी आप यह कोर्स विशेष रूप से इन उपचारों को जानने के लिए कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त व्यवसाय प्रशासन या अर्थशास्त्र या विपणन स्नातक के रूप में आपका कौशल योजना, बजट,स्वास्थ्य, वित्त पोषण आदि क्लिनिक के दिन प्रतिदिन के काम में उपयोगी हो सकता है। शिक्षा के क्षेत्र में परास्नातक भी इस क्षेत्र में उपयोगी माना जाता है क्योंकि यह अच्छी तरह से चिकित्सा की अवधारणाओं के महत्व को समझने में उपयोगी होता है। सामाजिक कार्य में परास्नातक और साथ गैर-मुनाफे में काम करने की पृष्ठभूमि भी मानसिक स्वास्थ्य में काम करने के लिए अच्छी योग्यता माना जाता है। चाहे आप मानसिक स्वास्थ्य क्लिनिक या एक गैर सरकारी संगठन चला रहे हैं, कौशल का परस्पर-व्याप्त होना काफी आवश्यक होता है। यह, समूहों की कमजोरियों के साथ या आर्थिक सहायता एजेंसियों के साथ, सीमित संसाधनों के साथ काम कर रहे हैं या धन उपलब्ध कराने के लिए ट्रैक रिकॉर्ड दे रहे है, सरकारी निकायों के साथ मान्यता के लिए या मीडिया के साथ अनावृत्ति और जागरूकता के लिए संपर्क बढ़ाते है – दोनों क्षेत्रों में कौशल बहुत उपयोगी हो जाता हैं। इस उद्योग में संचार कौशल बहुत महत्वपूर्ण हैं तो भाषायी कुशलता का होना या संचार विशेषज्ञों को भी बेहतर माना जाता है।

तो सवाल का जवाब यही होगा कि मनोविज्ञान या मनोरोग में डिग्री निश्चित रूप से मानसिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में रोजगार में अंतर्दृष्टि रोगी को मदद करती है, लेकिन काम के लिए केवल यही आवश्यक योग्यता नहीं है। आप में अगर योगदान करने के लिए एक जुनून है, और सीखने की इच्छा है, तो कोई वजह नहीं कि आप मानसिक स्वास्थ्य में नौकरी पर विचार न करें।

लेटेस्ट अप्डेट्स

प्रवीण वर्ग की भावनात्मक जरूरतों को कैसे पूरा करें

एक जोड़ी के रूप में अपने भावनात्मक ज्ञान निर्माण के पांच तरीके

प्रवीण वर्ग और युवा वर्ग में अवसाद – तुलनात्मक व्यवधान

और रोचक लेख खोजेंrytarw

साथ मिलकर हम भावनात्मक समस्याओं से परेशान बहुत से लोगों की मदद कर सकते हैं। हर एक छोटे से छोटा दान भी बदलाव ला सकता है।

दान करें और एक सकारात्मक बदलाव लाएं

हेल्पलाइन संबंधी अस्वीकरण

द लिव लव लाफ फाउन्डेशन (टीएलएलएलएफ) किसी व्यवसाय में शामिल नही है जिसमें सलाह प्रदान की जाती है, साथ ही वेबसाइट पर दिये गए नंबरों का परिचालन, नियंत्रण भी नही करता है। हेल्पलाइन नंबर केवल सन्दर्भ के प्रयोजन से है और टीएलएलएलएफ द्वारा न तो कोई सिफारिश की जाती है न ही कोई गारंटी दी जाती है जो कि इन हेल्पलाइन्स पर मिलने वाली चिकित्सकीय सलाह की गुणवत्ता से संबंधित हो। टीएलएलएलएफ इन हेल्पलाइन्स का प्रचार नही करते और न ही कोई प्रतिनिधि, वारंटी या गारंटी देते हैं और इस संबंध में कोई उत्तरदायित्व नही लेते हैं जो सेवाएं इनके माध्यम से प्रदान की जाती हैं। टीएलएलएलएफ द्वारा इन हेल्पलाइन नंबर पर किये जाने वाले कॉल के कारण होने वाले किसी भी नुकसान की जिम्मेदारी से स्वयं को अलग किया जाता है।