search
Live Love Laugh

चर्चा मंच

आपको यह जान कर आश्चर्य होगा कि ऐसे दूसरे लोग भी हैं जिनको आप ही की तरह प्रश्न, चिंताएं और शंकाएं परेशान करते हैं।

हां, आप सही स्थान पर आए हैं। द लिव लव लॉफ चर्चा मंच वह जगह जहां आप समान रुचि वालों से बात कर सकते हैं।

Helpline

आइकॉल (iCALL) टीआईएसएस की एक सेवा है जो प्रशिक्षित मानसिक स्वास्थ्य पेशेवरों द्वारा संचालित है। आइकॉल सामाजिक व मनोवैज्ञानिक तनाव से ग्रसित विभिन्न लिंग और यौन पहचान वाले लोगों को जीवन पर्यन्त भावनात्मक सहारा, सूचना और व्यक्तियों को रेफरल सेवाएं प्रदान करता है।
हेल्पलाइन:: 022-25521111
सोमवार से शनिवार
08.00 सुबह से रात 10.00 तक
ईमेल: icall@tiss.edu

परिवर्तन परामर्श, प्रशिक्षण और अनुसंधान केन्द्र एक मान्यताप्राप्त, गैरलाभकारी संस्था है जो पिछले 20 वर्षों से मानसिक स्वास्थ के क्षेत्र में विभिन्न प्रकार की सेवाएं उपलब्ध करा रहा है। यह संस्था नैतिक आचरण विधियों के पालन और अपने क्लाइंट्स के प्रति गोपनशीलता के दायित्व को गम्भीरता से लेती है।
हेल्पलाइन: +91 7676 602 602 ( सोमवार से शुक्रवार शाम 04:00 बजे से रात 10:00 बजे तक).
वेबसाइट: www.parivarthan.org

सहाय मेडिको पैस्टोरल एसोसिएशन (एमपीए) द्वारा प्रदान की गई सेवा है। एमपीए मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों से जूझ रहे लोगों के लिए 51 वर्ष से मनोवैज्ञानिक सामाजिक पुनर्वास घर है। सहाय 2002 में अपनी स्थापना के बाद से 11000 से ज्यादा कॉल प्राप्त कर चुका है। उनके पास 20 सक्रिय स्वयंसेवक हैं, जो एमपीए के नैदानिक प्रबंधक द्वारा आयोजित प्रशिक्षण ले चुके हैं, जहां निमहांस और अन्य मनोचिकित्सक पढ़ाने के लिए सत्र आयोजित करते हैं। सहाय अपने यहाँ कॉल करने वालों से कोई शुल्क नहीं लेता है। यदि किसी फोन करने वाले को आमने सामने परामर्श की आवश्यकता होती है, तो उनको एमपीए काउंसलर्स के पास भेजा जाता है जो पूरी तरह से प्रशिक्षित हैं।
हेल्पलाइन: 080-25497777
सोमवार से शनिवार
08.00 सुबह से रात 10.00 तक
ईमेल: sahaihelpline@gmail.com

सुमैत्री आपातकालीन स्थिती में अवसादग्रस्त, मनोव्यथा से पीड़ित या आत्महत्या के बारे में सोच रहे लोगों की मदद के लिए हस्तक्षेप केन्द्र है। फोन या पत्र के माध्यम से या स्वयं आकर जो भी यहाँ सम्पर्क करता है, यह संस्था उसे बिना किसी शर्त के निष्पक्ष भावनात्मक समर्थन प्रदान करती है। यहाँ के प्रशिक्षित स्वयंसेवक साल के 365 दिन संस्था में और फोन पर उपलब्ध होते हैं। फोन करनेवालों की पहचान गुप्त रहती है तथा गोपनीयता का ध्यान रखा जाता हैं। सुमैत्री की सेवाएं नि:शुल्क हैं।
हेल्पलाइन: 011- 23389090 सोमवार से शुक्रवार दोपहर 02:00 बजे से रात 10:00 बजे तक | शनिवार और रविवार सुबह 10:00 बजे से रात 10:00 बजे तक.
ईमेल: feelingsuicidal@sumaitri.net

आसरा मानसिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम करता है, यह हेल्पलाइन सेवा और वॉक इन सेंटर के माध्यम से भावनात्मक सहारा और निष्पक्ष देखभाल प्रदान कर रहा हैं। आसरा की नि:शुल्क, गोपनीय हेल्पलाइन पर व्यावसायिक रूप से प्रशिक्षित स्वयंसेवकों द्वारा गैर आलोचनात्मक उत्तर दिये जाते हैं।
24 घंटे की हेल्पलाइन: 022-27546669
ईमेल: aasrahelpline@yahoo.com

स्नेहा एक आत्महत्या निरोधक संगठन है जो कि उदास, हताश और आत्महत्या को तत्पर लोगों को बिना शर्त भावनात्मक सहारा प्रदान करता है। स्नेहा अपने यहाँ कॉल करने वालों को पूरी गोपनीयता प्रदान करता है, उसके स्वयंसेवक गैर आलोचनात्मक हैं और उनके द्वारा पेश की गई सेवाएं नि:शुल्क हैं।
हेल्पलाइन: 044-24640050 (24 घंटे) | 044-24640060
सुबह 8 बजे से रात 10 बजे तक
ईमेल: help@snehaindia.org

लाइफलाइन एक नि:शुल्क टेली-हेल्पलाइन सेवा है जो अवसादग्रस्त, व्याकुल या आत्महत्या का विचार कर रहें व्यक्तियों को भावनात्मक सहारा प्रदान करता है। पहले से समय तय करने पर आमने-सामने बैठकर दोस्तानापूर्ण तरीके से बातचीत करना भी सम्भव है। इसकी सेवाएं बिना शर्तों के, बिना व्यक्ति को परखें और गोपनीयता को बरकरार रखते हुए उपलब्ध करवाई जाती हैं। लाइफलाइन फाउन्डेश्न कोलकाता स्थित एक आत्महत्या प्रतिरोधी गैर लाभकारी संस्था है और यह कोलकाता में कई तरह के संपर्क स्थापन हेतु कार्यक्रमों का आयोजन करता है।
हेल्पलाइन: 033-24637401 | 033-24637432
सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक
सोमवार से शनिवार
ईमेल: lifelinekolkata@gmail.com

सी ओ ओ जे मेन्टल हेल्थ फाउन्डेश्न (कूज) गोवा में मानसिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में इन चार विभागों की जरूरतों को पूरा करता है – मानसिक-सामाजिक पुनर्वासन, आत्महत्या का प्रतिरोध, बुज़ुर्गो की देखभाल और सामुदायिक मानसिक स्वास्थ्य। वे एक गोपनीयता प्रतिबद्ध हेल्पलाइन भी चलाते है जो आत्महत्या के विचारों से लड़ रहे व्यक्तियों एवम् किसी और तरह की व्याकुलता के शिकार लोगों को भावनात्मक समर्थन प्रदान करते हैं। यह सचेतन भाव और सक्रिय रूप से सुनने की प्रणाली में प्रशिक्षित स्वंयसेवकों द्वारा चलाया जाता है।
हेल्पलाइन: 0832-2252525
सुबह 3 बजे से रात 7 बजे तक
सोमवार से शनिवार
ईमेल: ईमेल: lifelinekolkata@gmail.com
ई-काउंसलिंग: Youmatterbycooj@gmail.com

हेल्पलाइन संबंधी अस्वीकरण

द लिव लव लाफ फाउन्डेशन (टीएलएलएलएफ) किसी व्यवसाय में शामिल नही है जिसमें सलाह प्रदान की जाती है, साथ ही वेबसाइट पर दिये गए नंबरों का परिचालन, नियंत्रण भी नही करता है। हेल्पलाइन नंबर केवल सन्दर्भ के प्रयोजन से है और टीएलएलएलएफ द्वारा न तो कोई सिफारिश की जाती है न ही कोई गारंटी दी जाती है जो कि इन हेल्पलाइन्स पर मिलने वाली चिकित्सकीय सलाह की गुणवत्ता से संबंधित हो। टीएलएलएलएफ इन हेल्पलाइन्स का प्रचार नही करते और न ही कोई प्रतिनिधि, वारंटी या गारंटी देते हैं और इस संबंध में कोई उत्तरदायित्व नही लेते हैं जो सेवाएं इनके माध्यम से प्रदान की जाती हैं। टीएलएलएलएफ द्वारा इन हेल्पलाइन नंबर पर किये जाने वाले कॉल के कारण होने वाले किसी भी नुकसान की जिम्मेदारी से स्वयं को अलग किया जाता है।

थेरेपिस्ट खोजें।

अपने निकट थेरेपिस्ट खोजने के लिए यहां क्लिक करें।

लेटेस्ट अप्डेट्स

The top 5 ways junk food can cause depression

आत्महत्या के विचार को सक्रिय करने वाली 5 सबसे आम बातें

सोशल मीडिया 6 तरह से युवा व्यक्ति के मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करता है

और रोचक लेख खोजेंrytarw

साथ मिलकर हम भावनात्मक समस्याओं से परेशान बहुत से लोगों की मदद कर सकते हैं। हर एक छोटे से छोटा दान भी बदलाव ला सकता है।

दान करें और एक सकारात्मक बदलाव लाएं

हेल्पलाइन संबंधी अस्वीकरण

द लिव लव लाफ फाउन्डेशन (टीएलएलएलएफ) किसी व्यवसाय में शामिल नही है जिसमें सलाह प्रदान की जाती है, साथ ही वेबसाइट पर दिये गए नंबरों का परिचालन, नियंत्रण भी नही करता है। हेल्पलाइन नंबर केवल सन्दर्भ के प्रयोजन से है और टीएलएलएलएफ द्वारा न तो कोई सिफारिश की जाती है न ही कोई गारंटी दी जाती है जो कि इन हेल्पलाइन्स पर मिलने वाली चिकित्सकीय सलाह की गुणवत्ता से संबंधित हो। टीएलएलएलएफ इन हेल्पलाइन्स का प्रचार नही करते और न ही कोई प्रतिनिधि, वारंटी या गारंटी देते हैं और इस संबंध में कोई उत्तरदायित्व नही लेते हैं जो सेवाएं इनके माध्यम से प्रदान की जाती हैं। टीएलएलएलएफ द्वारा इन हेल्पलाइन नंबर पर किये जाने वाले कॉल के कारण होने वाले किसी भी नुकसान की जिम्मेदारी से स्वयं को अलग किया जाता है।