search
Live Love Laugh Logo

मानसिक स्वास्थ्य में कैरियर बनाने के लिए आपको सात जरूरी कदम उठाने होंगे

मानसिक स्वास्थ्य में कैरियर उन लोगों के लिए फायदेमंद हो सकता है जो दयावान होते हैं और या अन्य लोगों के जीवन में बदलाव लाना चाहते हैं। मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर बनने की यात्रा चुनौतीपूर्ण और रोमांचक दोनों होती है। यहाँ सात कदम है जो मानसिक स्वास्थ्य में कैरियर बनने के लिए मार्गदर्शन करेंगे।
01

स्नातक की डिग्री प्राप्त करें

मानसिक स्वास्थ्य में स्नातक की डिग्री प्राप्त करें। पाठ्यक्रम की अवधि आम तौर पर 4 साल होती है जिसके दौरान आपको अन्य विषयों के साथ मनोविज्ञान, मानव मन और इसके विकास, व्यवहार और सामाजिक कार्य की मूल बातों को सीखना होगा।

02

परास्नातक की डिग्री प्राप्त करें

एक बार जब आपने पाठ्यक्रम सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है तब आप परास्नातक की डिग्री ले सकते हैं जिससे आपको मानसिक स्वास्थ्य की एक विशेष धारा में विशेषज्ञता लेने में मदद मिलेगी। यह तब होता है जब आप तय कर सकते हैं कि क्लिनिकल मनोवैज्ञानिक, परामर्शदाता, बाल मनोचिकित्सक, वैवाहिक परामर्शदाता और अध्ययन के समान क्षेत्र की किसी अन्य धारा में पेशेवर होना चाहते हैं।

03

प्रशिक्षित हों और इंटर्नशिप करें

परास्नातक की डिग्री पूरी करने के बाद आप जिस विषय में विशिष्ट है उसमें आपको प्रशिक्षित होना होगा। एक लाइसेंस प्राप्त मानसिक स्वास्थ्य चिकित्सक का पता लगाएं और उसकी / उसके मार्गदर्शन में इंटर्नशिप करें। यह काम सीखने का भी अच्छा अवसर है।

04

प्रैक्टिस के लिए लाइसेंस प्राप्त करें

आप अब लगभग अपने लक्ष्य तक पहुँच चूके हैं! आपको एक मान्यता प्राप्त मानसिक स्वास्थ्य संस्था या एक प्रसिद्ध मानसिक स्वास्थ्य विश्वविद्यालय से एक प्रैक्टिस लाइसेंस लेने की आवश्यकता है। यह कदम हर देश के लिए भिन्न होता है, भारत में आपको ‘नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेंटल हेल्थ एंड न्यूरोसाइंसेज’ (निमहांस) से लाइसेंस प्राप्त करना होगा।

05

प्रमाणपत्र प्राप्त करें

मानसिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में अपने कैरियर में उन्नति करने के लिए आपको मानसिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में नवीनतम प्रगति से जुड़े रहने के लिए लगातार पाठ्यक्रमों और परीक्षाओं में भाग लेते रहने की जरूरत है।

06

पीएचडी प्राप्त करें

कैरियर में आगे बढ़ने के लिए डॉक्टरेट उच्चतम स्तर है। मानसिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में पीएचडी केवल आप एक प्रसिद्ध प्रतिष्ठा अर्जित नहीं होगा, बल्कि यदि आप मानसिक स्वास्थ्य संस्था या इलाज की सुविधा पर काम करने के लिए चुनते हैं तो यह आपको प्रभावी बनाता है।

07

अपनी खुद की प्रैक्टिस शुरू करें

एक बार जब आप अपने लाइसेंस, प्रमाणपत्र और Ph.d (वैकल्पिक) प्राप्त कर लेते हैं तब आप अपनी खुद की प्रैक्टिस की स्थापना करने और रोगियों के इलाज करने के योग्य हो जातें हैं। आप भी अपने विशेषज्ञता के क्षेत्र में अपने करियर को आगे बढ़ाने की इच्छा रखने वालों को इंटर्न, Ph.d उम्मीदवारों और प्रशिक्षुओं को ले सकते हैं।

लेटेस्ट अप्डेट्स

आत्महत्या के विचार को सक्रिय करने वाली 5 सबसे आम बातें

5 महत्वपूर्ण किताबें जिनका सरोकार नारी और मानसिक स्वास्थ्य से है

एक जोड़ी के रूप में अपने भावनात्मक ज्ञान निर्माण के पांच तरीके

और रोचक लेख खोजेंrytarw

साथ मिलकर हम भावनात्मक समस्याओं से परेशान बहुत से लोगों की मदद कर सकते हैं। हर एक छोटे से छोटा दान भी बदलाव ला सकता है।

दान करें और एक सकारात्मक बदलाव लाएं

हेल्पलाइन संबंधी अस्वीकरण

द लिव लव लाफ फाउन्डेशन (टीएलएलएलएफ) किसी व्यवसाय में शामिल नही है जिसमें सलाह प्रदान की जाती है, साथ ही वेबसाइट पर दिये गए नंबरों का परिचालन, नियंत्रण भी नही करता है। हेल्पलाइन नंबर केवल सन्दर्भ के प्रयोजन से है और टीएलएलएलएफ द्वारा न तो कोई सिफारिश की जाती है न ही कोई गारंटी दी जाती है जो कि इन हेल्पलाइन्स पर मिलने वाली चिकित्सकीय सलाह की गुणवत्ता से संबंधित हो। टीएलएलएलएफ इन हेल्पलाइन्स का प्रचार नही करते और न ही कोई प्रतिनिधि, वारंटी या गारंटी देते हैं और इस संबंध में कोई उत्तरदायित्व नही लेते हैं जो सेवाएं इनके माध्यम से प्रदान की जाती हैं। टीएलएलएलएफ द्वारा इन हेल्पलाइन नंबर पर किये जाने वाले कॉल के कारण होने वाले किसी भी नुकसान की जिम्मेदारी से स्वयं को अलग किया जाता है।