search
Live Love Laugh Logo

'वह साइको है!'
'उसको ओसीडी है! '
मनोरोग से जुड़े शब्दों का ऐसे होता है दुरुपयोग

हम अक्सर दोस्तों और परिवार के बीच इन शब्दों का प्रयोग अपमान करने के लिए या किसी का मजाक उड़ाने के लिए करते हैं। सबसे आम वाक्यांश जिनको उछाला जाता है उनमें ‘सनकी’, ‘ओसीडी,’ ‘पागल’, ‘अनोरेक्सिक’ ‘बाइपोलर’ और इस तरह के अन्य शब्द हैं।

मानसिक स्वास्थ्य का क्षेत्र बहुत विशाल है, उस क्षेत्र में स्थिति का वर्णन करने के लिए इस्तेमाल किये जाने वाले कई शब्द हैं। यह कुछ ऐसा है कि जो मानसिक स्वास्थ्य पारिस्थितिकी तंत्र के भीतर सही संदर्भ में उपयोग करने के लिए विशेषज्ञता और समय लेगा।

मानसिक बीमारी के बारे में मिथकों के इस दुरुपयोग को बनाए रखने के लिए, लांछन लगाते हैं, मानसिक रूप से बीमार व्यक्ति को उनकी हालत के लिए उत्तरदायी ठहराते हैं, और उन्हें नीचा दिखातें हैं। हमको अपनी शब्दावली पर पुनर्विचार की जरुरत है और यह समझना होगा कि मानसिक स्वास्थ्य के लिए सामान्य रूप से दुरुपयोग किये जाने वाले शब्दों का वास्तव में क्या असर है।

सामान्य करना

हम अक्सर लोगों को सामान्य बताने के लिए मानसिक स्वास्थ्य के सम्बन्ध में दुरूपयोग किये जाने वाले शब्दों को खारिज करते हैं। किसने इन मानकों को बनाया है? जो आपके लिए सामान्य है हो सकता है औरों के लिए न हो, यह फिर भी अच्छा नहीं है। हम अपने आपको बुद्धिमान दिखने के लिए कठिन शब्दों का प्रयोग करते हैं, खासकर तब जब हम समूह में किसी को प्रभावित करने की कोशिश कर रहे हों। आपके नजरिए से जो ठीक लगता है वह दूसरों तथा समूह में संबोधित किये जाने वाले व्यक्ति के लिए बेहद हानिकारक हो सकते हैं। हमें प्रभावशाली रूप से कम बुद्धिमान और भावनात्मक रूप से अधिक बुद्धिमान होने का प्रयास करना चाहिए।

जो हम अनजाने में और अपने ज्ञान का आकलन किये बिना करते हैं यहाँ उसके कुछ उदाहरण हैं।

1

“वह आदमी पूरी तरह से मेंटल है”

स्पेक्ट्रम के एक तरफ जिस व्यक्ति को आप संबोधित कर रहे हैं वह शायद पूरी तरह से ठीक हो और दूसरी तरफ आप ही इसे शांत शब्दावली के रूप में खारिज करते हैं। दूसरी तरफ, यदि इस विशेष स्थिति में मानसिक स्वास्थ्य विकार से ग्रस्त कोई व्यक्ति आपको सुनले तो क्या हो?

2

“वह औरत कितनी साइको है”

‘मनोवैज्ञानिक रूप से प्रभावित’ के लिए साइको संक्षिप्त शब्द है। क्या यह अब भी उतना ही कूल लग रहा है? यह औरतों को संबोधित करने के लिए ठीक नहीं है। कौन जानता है कि वह किन मानसिक हालत का सामना कर रहीं हैं? क्या आप जानते हैं कि ऐसे कितने लोग मौजूद हैं? साइको एक थ्रिलर फिल्म के लिए नाम था, लेकिन उस नाम से किसी और को संबोधित नहीं करना चाहिए।

3

“तुम बिल्कुल पागल हो”

एक और शब्द जिसको हमने शानदार ढंग से सामान्य वार्तालाप का हिस्सा बना लिया है। जिसकी वास्तव में किसी को नुकसान पहुँचाने की मंशा नहीं है दरअसल उसका अर्थ है कि “आप सामान्य रूप से कार्य करने के लिए फिट नहीं हैं”। इसका यह भी मतलब है कि “आप एक अस्पताल में ही रहें”। यह वाक्यांश इन दिनों इतना सुलभ है कि कोई भी दरअसल नहीं जानता है कि वास्तव में इसका क्या मतलब है।

4

“वो लड़की पागल जैसी हरकत करती है”

आप शायद एक विशेष प्रतिभा का ज़िक्र कर रहे हैं कि जिसमें वह बहुत अच्छी है, लेकिन उसकी प्रतिभा की सराहना करने के लिए जो शब्द चुना है और जब आप यह कह रहे हैं दूसरी जगह समय या स्थिति में किसी को चोट पहुंचा सकता है। बिंदु सरल है, और मानसिक स्वास्थ्य शब्दावली के दुरुपयोग को हमने जिस तरह से बातचीत के तरीके का हिस्सा बना लिया है, यह सामान्य हो गया है। यह सामान्य बनना लोगों को अनजाने दर्द दे रहा है। क्या होगा अगर आपने ऐसा किसी ऐसी एक लड़की के लिए कहा जो वास्तव में पागल जैसी हरकत करती है, और जो यह नहीं जानती है कि वह ऐसा क्यों कर रही है और सख्ती से रोकने की कोशिश कर रही है?

भावनात्मक रूप से मूर्ख

कई बार हम सुपर स्मार्ट हो जाते हैं और पूरी तरह से संदर्भ से बाहर गंभीर मानसिक स्वास्थ्य से जुड़े शब्दों का प्रयोग करने का प्रयास करते हैं। जब हम सोचते हैं कि हम अत्याधुनिक हैं, लेकिन पूरी तरह से असंवेदनशील व्यक्तियों के रूप में सामने आते हैं।

यहाँ कुछ उदाहरण हैं:

स्कित्ज़ो

“वह दोस्त पूरी तरह से स्कित्ज़ो है”

आप पूरी तरह से स्कित्ज़ो नहीं हो सकते है, स्कित्ज़ोफ्रेनिक होना अपने आप में आजीवन मानसिक बीमारी है और यह निश्चित रूप से मज़ाक या गुस्से में कहा जाने वाला वाक्यांश नहीं है।

यहाँ स्कित्ज़ोफ्रेनिया के लिए शब्दकोश परिभाषा है: एक लंबी अवधि के मानसिक विकार का एक प्रकार जिसमें विचार, भावना, और व्यवहार के बीच संबंधों का टूटना, दोषपूर्ण धारणा रहना, अनुचित कार्यों और भावनाओं का, वास्तविकता और व्यक्तिगत संबंधों से दूर हटकर कल्पना और भ्रम में रहना और मानसिक विखंडन की भावना शामिल रहती है।

कल्पना कीजिए कि एक स्कित्ज़ोफ्रेनिक व्यक्ति एक दैनिक आधार पर क्या महसूस करता है, और यह कभी भी जल्द ही दूर नहीं जा रहा है।

बाइपोलर

“उस लड़की को कुछ गंभीर बाइपोलर दिक्कत है”

आप जिसे चरम का मन बदलना मान रहे हैं वह एक गंभीर मानसिक बीमारी हो सकती है। सिर्फ इसलिए कि एक लड़की नखरे फेंक रही है इसका मतलब यह नहीं है कि हम उसको बाइपोलर का लेबल लगा देंने का हक़ है।

यहाँ बाइपोलर के लिए शब्दकोश परिभाषा है: एक मनोरोग बीमारी जिसमें दोनों मेनिक और अवसाद के एपिसोड की विशेषता होती है।

वह लड़की सचमुच खुद से एक भावनात्मक युद्ध लड़ रही हो सकती है।

ओसीडी

” बस अपने ओसीडी के साथ”

एक व्यक्ति जो थोड़ा साफ, सुथरा और संगठित है उस पर तुरंत ओसीडी का लेबल लगा देते है। सच तो यह कि वास्तव में ओसीडी से पीड़ित लोग क्या करते हैं उस पर नियंत्रण नहीं कर सकते हैं।

यहाँ ओसीडी के लिए शब्दकोश परिभाषा है: ओसीडी (आब्सेसिव कम्पल्सिव डिसऑर्डर) एक व्यग्रता विकार है जिसमें लोगों को अवांछित और दोहराव के साथ विचार, भावनाएं, योजना, संवेदना (आग्रह), या व्यवहार जो उन्हें कुछ (मजबूरियां) करने के लिए प्रेरित करता है। अक्सर लोग जुनूनी विचारों से छुटकारा पाने के लिए यह व्यवहार अपनाते हैं।

इस तरह के कई शब्द हैं जिनको आप अनजाने में उपयोग करते है, लेकिन उससे कोई आहत हो सकता हैं। तो चलें कोशिश करें और किसी के मानसिक स्वास्थ्य के बारे में चर्चा करते समय शब्द प्रयोग करते समय ऐसे शब्दों का प्रयोग न करें जिनको हम पूरी तरह से समझते नहीं हैं। शायद हमारा तात्पर्य कुछ और हो, लेकिन जो इसके साथ जी रहे हैं वे वास्तव में इससे बेहद नाराज हो सकते हैं।

लेटेस्ट अप्डेट्स

आत्महत्या का प्रयास कर चुके किसी से साथ कैसे बात करें

प्रवीण वर्ग की भावनात्मक जरूरतों को कैसे पूरा करें

अपने व्यक्तित्व और भावनात्मक लब्धि के अनुसार नौकरी चुनने के शीर्ष 5 तरीके

और रोचक लेख खोजेंrytarw

साथ मिलकर हम भावनात्मक समस्याओं से परेशान बहुत से लोगों की मदद कर सकते हैं। हर एक छोटे से छोटा दान भी बदलाव ला सकता है।

दान करें और एक सकारात्मक बदलाव लाएं

हेल्पलाइन संबंधी अस्वीकरण

द लिव लव लाफ फाउन्डेशन (टीएलएलएलएफ) किसी व्यवसाय में शामिल नही है जिसमें सलाह प्रदान की जाती है, साथ ही वेबसाइट पर दिये गए नंबरों का परिचालन, नियंत्रण भी नही करता है। हेल्पलाइन नंबर केवल सन्दर्भ के प्रयोजन से है और टीएलएलएलएफ द्वारा न तो कोई सिफारिश की जाती है न ही कोई गारंटी दी जाती है जो कि इन हेल्पलाइन्स पर मिलने वाली चिकित्सकीय सलाह की गुणवत्ता से संबंधित हो। टीएलएलएलएफ इन हेल्पलाइन्स का प्रचार नही करते और न ही कोई प्रतिनिधि, वारंटी या गारंटी देते हैं और इस संबंध में कोई उत्तरदायित्व नही लेते हैं जो सेवाएं इनके माध्यम से प्रदान की जाती हैं। टीएलएलएलएफ द्वारा इन हेल्पलाइन नंबर पर किये जाने वाले कॉल के कारण होने वाले किसी भी नुकसान की जिम्मेदारी से स्वयं को अलग किया जाता है।